Saturday, June 07, 2008

मुनस्‍यारी में हम

बहुत समय से मुनस्यारी जाने की कामना थी जो आखिरकार पूर्ण हुई ! उत्तरांचल की आखिरी सडक पर आखिरी मोटरऎबल गांव ! मिलम ,रलम ,पिंडारी और हीरामणि ग्लेशियरों से घिरा और पंचचुली पर्वतमाला के चरणों में अडा यह गांव दिल्ली की चहल पहल से 700 किलोमीटृर दूर है ! इस दूरी को हमने अपनी  नई नवेली ऎवियो युवा कार से की गई यात्रा से पाटा ! पेश हैं कुछ छायाचित्र -

17 comments:

अरुण said...

फ़ोटो अच्छी है, लेकिन तफ़सील गायब है, इतने दिनो गायब होने की तफ़सील तफ़सील से दीजीये :)

Ashok Pande said...

मुनस्यारी को मैं दुनिया के सबसे सुन्दर क़स्बों में शुमार करता हूं. पर्वतारोहण और यात्राओं के लिये मेरा पागलपन मुझे पांच बार मिलम ग्लेशियर तक ले कर गया. एक बार मिलम तो से भी आगे टोपीढूंगा और ऊंटाधूरा के चटियल बर्फ़ानी दर्रों के पार. आपने मुनस्यारी की तस्वीरें दिखा कर मेरा चैन छीन लिया है. तुरन्त टैन्ट और रकसैक लेकर निकल पड़ने की उत्कट इच्छा होने लगी है. बस अपना पैर ज़रा सा ताज़ा ताज़ा पलस्तर से बाहर आया है. सो सब्र करना पड़ेगा.

आपने बढ़िया तस्वीरें प्रस्तुत की हैं. और पंचचूली की शान का क्या नज़ारा है. आप को अपने आप से रश्क हो रहा होगा. नहीं हो रहा है तो होना चाहिये.

फ़िलहाल धन्यवाद!

vijay gaur said...

न सिर्फ़ फ़ोटो खूब्सूरत हैं बल्कि प्रस्तुतिकरण भी लाजवाब. जब मुन्सयारी हो ही आये तो मिलम भी देख ही आते.

भुवनेश शर्मा said...

खूबसूरत चित्र हैं....

maithily said...

आपको एवियो युवा की बधाई. ये वाकई बहुत अच्छी खरीददारी है.

Anonymous said...

thanks to you mam
i got a chance to see uttarakhand in the month of january and i feel that agr svarg yadi kahin hai to vo himalaya kee sharan main hai
www.scam24inhindi.blogspot.com

mehek said...

pehli baar suni ye jagah,tasveerein bahut hi khubsurat

Manish said...

हमारे पड़ोसी उत्तरांचल से हैं। कल ही रात उनसे बात हो रही थी कि उत्तरांचल में आपका घर कहाँ हैं तो उन्होंने कहा मुनस्यारी.. और आज देखिए आपने उनके कस्बे की इतनी खूबसूरत तसवीरें दिखा दीं।
पर चित्र के साथ कुछ विवरण भी देतीं तो और आनंद आता।

DR.ANURAG ARYA said...

vakai aap jara vistaar se batayinye......aor lutf aayenga..vaise photographs sundar hai

Lavanyam - Antarman said...

पहली बार ये नाम सुना और तस्वीरोँ ने मन मोह लिया -
भारत का उत्तरखँड तो वाकई स्वर्ग है
स स्नेह्,
- लावण्या

Udan Tashtari said...

बहुत आनन्द आया तस्वीरे देखकर. बस लगा कि हम क्यूँ न गये. :)

Rajesh Roshan said...

मुनस्यारी हम तब गए थे जब उतराखंड बना भी नही था. प्रकृति पूरी तरीके से अपना सब कुछ न्योछावर कर देती है मुनस्यारी में

मुन्ना पांडेय said...

munsyari is awesome
but i gv u a suggestion ..go to chopta(in garhwal...near gopeshwar)there is chadrashila that is the best...well pics.is baeautiful.but gv sum details..

अनूप शुक्ल said...

हम भी टहल लिये मुफ़्त में।

उन्मुक्त said...

चित्र सुन्दर लगे।

pearl neelima said...

It's good that u maid a trip to our beautiful uttaranchal state...

हेम पन्त said...

इन शानदार तस्वीरों से रुबरू कराने के लिये धन्यवाद... मुनस्यारी सच में हिमनगरी है... आप छोटे से कस्बे मुनस्यारी के किसी भी कोने में खङे हो जाओ पंचाचूली और हंसलिंग पर्वत नजर के सामने होते हैं, लगता है ये हाथ बढाया और छू लिया.. मुझे गर्व है कि यह मेरे गृह जनपद पिथौरागढ में है...